राजिस्ट्रार कार्यालय का बाइंडर निकला कागजों के हेरफेर का मास्टरमाइंड, गिरफ्तार

देहरादून।  चाय बागान की जमीनों के दस्तावेजों में हेरफेर कर करोड़ों के जमीन घोटाले में एसआईटी ने मामले मे वकील इमरान व राजिस्ट्रार कार्यालय मे कार्यरत बाइडर अजय क्षेत्री को गिरफ्तार कर लिया।

एसआईटी टीम द्वारा रजिस्ट्रार ऑफिस से जानकारी करते हुए रिंग रोड से सम्बन्धित 30 से अधिक रजिस्ट्रियों का अध्ययन कर सभी लोगों से पूछताछ की तथा पूछताछ में कुछ प्रोप्रटी डीलर के नाम प्रकाश में आये जिनसे गहन पूछताछ में उक्त फर्जीवाडे में कई लोगों के नाम प्रकाश में आये। गठित टीम द्वारा कई संदिग्धों के विभिन्न बैंक अकाउण्ट का भी अवलोकन किया गया जिसमें करोड़ो रूपयो का लेन-देन होना पाया गया। इन लोगो द्वारा बनाये गये दस्तावेजों को रजिस्ट्रार कार्यालय से प्राप्त करने पर कई फर्जीवाड़े का होना भी पाया गया।

पर्याप्त साक्ष्यों के आधार पर प्रकाश मे आये आरोपियों के सम्भावित ठिकानों पर गठित टीम द्वारा बराबर दबिश दी जा रही है। एसआईटी मामले मे सन्तोष अग्रवाल, दीप चन्द अग्रवाल व रजिस्ट्रार कार्यालय में नियुक्त डालचन्द को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज चुकी है।

पूछताछ मे पता लगा कि आरोपी इमरान का अन्य सहयोगियों के माध्यम से सहारनपुर निवासी के0पी0 (कुंवर पाल ) से हुआ था तथा इनके द्वारा रजिस्ट्रार कार्यालय में नियुक्त अजय क्षेत्री के साथ मिलकर ऐसी जमीने जो कई वर्षों से विवादित हो और खाली पड़ी हो उन जमीनो के कागजात जिल्द फाइलो से निकालकर के0पी0 को दिये जाते थे तथा केपी द्वारा अपने अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर उन कागजातों की फर्जी रजिस्ट्रियां बनाकर कर पुनः उनकी प्रतियां उन्ही जिल्द फाइलों में अजय क्षेत्री के माध्यम से लगवा दिये जाते थे।

इमरान के बयानों के आधार पर रजिस्ट्रार कार्यालय में बाइडिंग का कार्य करने वाले अजय क्षेत्री को भी बल्लूपुर क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया तथा अपने अपराध को स्वीकार करते हुये बताया कि वह के0पी0 के सम्पर्क में काफी समय से था और के0पी0 द्वारा लालच दिये जाने एवं उनकी आर्थिक मदद करने के कारण उसके द्वारा रिकॉर्ड रूम से पुराने वर्षों की जिल्द फाइलों से कागज निकालकर के0पी0 को दिये जाते थे। के0पी0 द्वारा उन कागजों के बदले दूसरे कागज तैयार कर पुनः उसे दिये जाते थे तथा अजय क्षेत्री द्वारा उन कूटरचित कागजातों को जिल्द फाइलो में उसी क्रम में चिपका दिया जाता था। इसके बाद के0पी0 इमरान व उसके अन्य सहयोगियों द्वारा सम्बन्धित भूमि पर कब्जा करते हुये उनकी रजिस्ट्रियां विभिन्न प्रॉपर्टी डीलरों के माध्यम से बेच दी जाती थी जिसका प्रॉफिट सभी के द्वारा तय प्रतिशत द्वारा आपस में बांट लिया जाता था। पूछताछ मे के0पी0 के अलावा अन्य कई अभियुक्तों का इस अपराध में शामिल होना प्रकाश में आया है जिनकी तलाश की जा रही है साथ ही विवेचना में रजिस्ट्रार कार्यालय में नियुक्त अन्य कर्मियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है।

विवेचना एवं गिरफ्तार आरोपियों के बयानों तथा प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर यह बात प्रकाश में आयी कि रजिस्ट्रार ऑफिस में नियुक्त बाइन्डर अजय क्षेत्री ने लालच में आकर वर्ष 1984-85 व वर्ष 1980 की जिल्द फाइलो में से ऐसे कागजात जो लोन, लीज, तितम्बा, किरायेनामा आदि से सम्बन्धित हो उन कागजातों को फाइलों से निकालकर के0पी0 को दिया जिसके पश्चात आरोपियों ने रिंग रोड, रानी पोखरी, नवादा आदि जमीनो के भूस्वामियों के नाम से अपने आदमियो के नाम की फर्जी रजिस्ट्रियां करना दिखाते हुये उन कागजो को वापस अजय क्षेत्री के माध्यम से पुनः उसी क्रम में उसी वर्ष की जिल्द फाइलो में चिपका दिया जाता था। इसके पश्चात आरोपी रजिस्ट्रार कार्यालय से प्रमाणित प्रति प्राप्त कर उन जमींनो की दाखिल खारिज करवाकर प्रॉपर्टी डीलरो के माध्यम से जमीने बेचा करते थे । आरोपियों ने इन कूटरचित रजिस्ट्रियों के माध्यम से जमीने बेचकर लगभग 15 करोड़ से अधिक का मुनाफा कमाया जिसका बंटवारा आरोपियों एवं अन्य प्रकाश में आये आरोपियों ने आपस में तय किये प्रतिशत अनुसार बांट लिये तथा के०पी० द्वारा बाइन्डर अजय क्षेत्री को भी उपरोक्त काम के एवज में करीब 45 लाख का 166 गज का एक प्लॉट रिंग रोड पर रजिस्ट्री कर दिया गया साथ ही लगभग 10-15 लाख रूपये की आर्थिक मदद विभिन्न तरीके से करी ।

बरामदगी

अजय क्षेत्री के कब्जे से आरोपियों के0पी0 व संतोष अग्रवाल व अन्य प्रकाश में आये अभियुक्तों द्वारा रिंग रोड पर खसरा नं0 1584 रकबा 166 गज भूमि प्लॉट की रजिस्ट्री व अभियुक्त अजय क्षेत्री के बैंक अकाउण्ट की पासबुक, जिसमें लाखों रूपये की एन्ट्री है, को बरामद किया गया।

पर्यवेक्षण अधिकारी

1- श्री सर्वेश कुमार पंवार, पुलिस अधीक्षक यातायात देहरादून
2. श्रीमती सरिता डोभाल, पुलिस अधीक्षक नगर देहरादून
3- श्री मिथिलेश कुमार, पुलिस अधीक्षक अपराध देहरादून
4. श्री नीरज सेमवाल, क्षेत्राधिकारी नगर देहरादून

पुलिस टीम

1- श्री राकेश कुमार गुसांई प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर
2- श्री नन्द किशोर भट्ट प्रभारी एस0ओ0जी0
3-श्री प्रदीप सिंह रावत व0उ0नि0 कोतवाली नगर
4-श्री नवीन चन्द्र जुराल उ0नि0 कोतवाली नगर
5-श्री मनमोहन सिंह नेगी उ0नि0 पुलिस कार्यालय
6-उ0नि0 हर्ष अरोडा एस0ओ0जी0
7-कानि0 किरन कुमार एस0ओ0जी0
8-कानि0 आशीष शर्मा एस0ओ0जी0
9-कान ललित कुमार एस0ओ0जी0
10- कानि0 पंकज कुमार एस0ओ0जी0
11- कानि0 अमित कुमार एस0ओ0जी0
12- कानि0 देवेन्द्र कुमार एस0ओ0जी0
13- कानि0 विपिन एस0ओ0जी0
14- कानि0 लोकेन्द्र उनियाल कोतवाली नगर

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *