उत्तराखण्ड में बढ़ती दुर्घटनायें चिंता का विषयः डॉ.संजय

देहरादून! संजय ऑर्थोपीडिक स्पाइन एवं मैटरनिटी सेंटर, सेवा सोसाइटी एवं बी. जे.पी. महिला मोर्चा, मसूरी मंडल के तत्वाधान मे शिशु विद्या मंदिर मसूरी में आयोजित निःशुल्क हड्डी एवं जोड़ रोग तथा स्त्री एवं प्रसूति के मरीजों के लिए आयोजित स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। इसके साथ ही सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान में मुख्य अतिथि पद्म श्री ऑर्थोपीडिक एवं स्पाइन सर्जन डॉ. बी. के. एस. संजय ने बढ़ते दुर्घटनाओं पर चिंता जताते हुए कहा कि एक शोध ने दर्शाया कि 90 प्रतिशत दुर्घटनाओं का कारण चालक है तथा इन दुर्घटनाओं में ओवर लोडिंग, ओवर स्पीड़िग, ओवर टेकिंग, नींद का अभाव एवं सड़क दुर्घटनाओं के मुख्य कारण है। रात के समय शरीर की थकान को कम करने के लिए शराब का सेवन करना भारत में एक आम बात है,लेकिन यह ड्राइवरों और पहाड़ी क्षेत्रों में अधिक आम है जिससे दुर्घटना की संभावना और दुर्घटना की गंभीरता बढ़ जाती है। हाल ही में उत्तराखण्ड़ के टिहरी, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, चम्पावत, चकराता आदि में हुई दुर्घटनाऐं भली-भाँति दर्शाती हैं।
डॉ. गौरव संजय ने ऑडियो-विजुअल प्रेजेन्टेशन के माध्यम से सड़क दुर्घटनाओं से होने वाले दुष्परिणामों को आए हुए लोगों को बताया और लोगों से अनुरोध किया कि लोग अपने और जनहित में यातायात के नियमों को सीखें तथा मानें। प्रदेश के भौगोलिक स्थिति को देखते हुए लोग रात में सड़क यात्राऐ ंना करें, शराब पीकर गाड़ी ना चलाऐं, वाहन चलाते समय सीट बेल्ट और हेल्मेट को हमेशा पहनें।
वर्तमान में उत्तराखण्ड में स्कूलों में ग्रीष्म अवकाश, शादियों एवं चार धाम यात्रा के चलते वाहनों एवं यात्रियों की संख्या भी बढ़ जाती है जिससे दुर्घटनाओं की संभावना अधिक बढ़ जाती हैं। देश की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए और मानसून के समय में इन दुर्घटनाओं की संख्या ज्यादा हो जाती है, क्योंकि पहाड़ी क्षेत्रों में मानसून के कारण सड़कों में फिसलन, सड़कों का कटाव तथा धुंध का होना आम बात हो जाती है, जिससे वाहनों का अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त होना एक आम बात है।
डॉ. गौरव संजय ने बताया कि युवा पीढ़ी आज के दौर में बहुत से परेशानियों से जूझ रही है और इसके साथ ही लोगों में नशा करने की आदत बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा युवाओं को धूम्रपान, शराब एवं नशे की लत से दूर रहना चाहिए और अपने समय में सकारात्मक कार्यों में अपने कार्यों के अतिरिक्त पारिवारिक एवं सामाजिक कार्यों में हाथ बटांना चाहिए।
डॉ. सुजाता संजय ने बताया कि मातृशक्ति पूरे समाज की रीढ़ है। महिलाओं को अपनी पारिवारिक एवं सामाजिक जिम्मेदारी निभाने के अतिक्ति अपने स्वास्थ्य के लिए भी समय निकालना चाहिए और अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होना चाहिए।
इससे पहले मंडल अध्यक्ष श्री मोहन पेटवाल, ओ. पी. उनियाल पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष, बी. जे. पी. महिला मोर्चा, मसूरी मंडल की अध्यक्षा श्रीमती पुष्पा पडियार, मदन मोहन शर्मा नगर पालिका नामित सदस्य एवं कोषाध्यक्ष श्रीमती नमिता कुमाई ने दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।
कार्यक्रम में गम्भीर पंवार मंडल उपाध्यक्ष, रजत अग्रवाल अध्यक्ष व्यापार मंडल, जगजीत कुकरेजा महामंत्री व्यापार मंडल, मसूरी, नागेन्द्र उनियाल कोषाध्यक्ष व्यापार मंडल, मसूरी, नरेन्द्र परिहार पूर्व सभासद् लण्डौर कैंट, श्रीमती नर्मदा नेगी पुर्व मंडल अध्यक्ष मसूरी, श्री कुशल राणा मंडल महामंत्री, अरविंद सेमवाल सभासद् नगर पालिका, विजय रमोला पूर्व महामंत्री भाजपा मंडल, राकेश अग्रवाल उपाध्यक्ष भजपा मंडल, श्री आनंद गुप्ता वरिष्ठ नागरिक एवं अनुज शर्मा पूर्व सभासद् लण्डौर कैंट आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *