एमआरआई मशीनों की सप्लाई में करोड़ों का गोलमाल:माहरा

देहरादून। कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष करण माहरा ने कुंभ मेले के दौरान सरकारी अस्पतालो मे एमआरआई मशीनों की खरीद फरोख्त में करोड़ों के घपले का आरोप लगाया है।

एक होटल मे पहली पत्रकार वार्ता में उन्होंने स्वास्थ्य विभाग में लगातार घपले घोटालो के मामले सामने आने के बाद स्वास्थ्य मंत्री से इस्तीफे की मांग की।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने Boston IVY Healthcare Solution, Mumbai company ने एमआरआई (MRI) मशीन सप्लाई में बड़ा हेरफेर किया गया है। उन्होंने कहा कि 3.20 करोड़ की MRI मशीन 9 करोड़ में बेची गई।
इस कंपनी के द्वाराUnited Imaging Shanghai की चाईनीज MRI मशीनें कुंभ मेले एवं दून मेडिकल कॉलेज, दोनों जगह में 3.20 करोड़ की मशीन प्रति मशीन 9 करोड़ के हिसाब से बेची गयी। ऐसा सब चाइनीज कंपनी के साथ मिलकर पैसे कमाने के लिए किया गया। वहीं उत्तराखंड प्रोक्योरमेंट पॉलिसी के सभी नियम कानूनों भी ताक पर रख दिए गये।

पॉलिसी के अनुसार निविदा में ऑफर मशीन 3 साल से इंडिया में लगी और बेहतर कंडीशन में होनी चाहिए।
हिंदुस्तान में लगे होने की शर्त के साथ साथ ऑफिस में या उस हॉस्पिटल के फिजिकल डिमॉन्सट्रेशन करना भी अनिवार्य होता है नहीं तो निविदा निरस्त कर दी जाती है।उस वक्त तक इस चाइनीज कंपनी की हिंदुस्तान में एक भी एमआरआई मशीन नहीं लगी हुई थी फिर भी इसको पास कर दिया। कई कम्पनियो के द्वारा इसकी शिकायते और नियम विरुद्ध टेंडर आवंटित करने की शिकायतो को भी दरकिनार कर दिया गया। एक और सरकार स्वदेशी का प्रचार और लोग चीनी उत्पादों के से प्रेरित होते रहे और कुम्भ में खेल हो गया। इससे कुंभ मेला टेंडर में फर्जी कागज़ात लगाए जाने की भी आशंका बन गई है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि Boston IVY के सरकार को 9 करोड़ के रेट मशीने बेच रहे हैं,लेकिन प्राइवेट हॉस्पिटल में एमआरआई मशीन के इसी मॉडल को 4 करोड़ से कम में बेच रहे हैं। कम्पनी के भुगतान की स्थिति और जीएसटी बिल से वस्तु स्थिति साफ हो सकती है। प्रेस वार्ता में वरिष्ठ नेता सूर्यकांत धस्माना तथा गरिमा मेहरा दसौनी भी मौजूद थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *