पुलिस ने किया फर्जी भर्ती सेंटर रेकेट का पर्दाफाश, बीटेक डिग्री धारक निकला मास्टरमाइंड

देहरादून। हरिद्वार पुलिस ने बेरोजगारों के साथ ठगी करने वाले  फर्जी भर्ती सेंटर रेकेट का पर्दाफाश कर दो शातिरों को गिरफ्तार किया है। रैकेट का मास्टरमाइंड बीटेक डिग्रीधारक है।

घटनाक्रम के अनुसार लक्सर कोतवाली क्षेत्र स्थित ग्राम हबीबपुर कुड़ी निवासी रजवंत द्वारा लक्सर कोतवाली पुलिस को शिकायत दर्ज कराई कि लक्सर क्षेत्र के एक गांव में भर्ती संबंधित पोस्टर लगा देखकर उस में दर्ज मोबाइल नंबर पर उसके द्वारा संपर्क किया गया था इसके पश्चात सिडकुल क्षेत्र में सुपरवाइजर की नौकरी का लालच देकर दस्तावेजों के साथ सहारनपुर में देहरादून चौक पर आमंत्रित कर लिया गया। बताए गए पते पर पहुंचने के पश्चात उसे एक तथाकथित अधिकारी द्वारा इंटरव्यू लेकर नौकरी देने के लिए ₹50000 की मांग की गई।

जिस पर पीड़ित के मुताबिक बतौर एडवांस के रूप में ₹20000 भी दे दिए। वापस लौटने पर उसे पता लगा कि नौकरी के नाम पर पैसे की मांग करने वाले तथाकथित अधिकारियों द्वारा कई बेरोजगार युवाओं से ठगी को अंजाम दिया गया है और अब वह पैसे बकाया धनराशि लेने के लिए भी लगातार मांग कर रहे हैं। मामले की शिकायत पर गंभीरता पूर्वक संज्ञान लेते हुए  कोतवाली लक्सर में मुकदमा दर्ज किया गया।

पुलिस ने मामला दर्ज कर एक टीम का गठन किया। टीम ने साक्ष्य संकलन कर सम्बन्धित स्थलों पर छापेमारी करते हुए कड़ी मशक्कत के बाद फर्जी भर्ती सेंटर रेकेट के मुख्य सरगना विपिन को हरिद्वार से तथा अन्य आरोपी शाकिब को जनपद सहारनपुर से दबोचकर इस ठगी के कारोबार का खुलासा किया। रेकेट से जुड़े कई फरार अभियुक्तों की तलाश में छापेमारी जारी है। आरोपियों की पहचान विपिन सिंह पुत्र रामचंद्र सिंह निवासी ग्राम हरचंदपुर थाना हरचंदपुर जनपद रायबरेली उत्तर प्रदेश तथा साकिब पुत्र अजीम निवासी अंबेटा थाना नकुड जनपद सहारनपुर उत्तर प्रदेश के रूप मे हुई। आरोपियों से 04 कम्प्यूटर डेल कम्पनी,  सीपीयू 2,फर्जी नियुक्ति प्रमाण पत्र, पम्पलेट 100 तथा  विभिन्न लोगों के शैक्षिक प्रमाण पत्र बरामद किये गए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *